Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

6/recent/ticker-posts

हम दूसरों की मदद इस अंदाज में भी कर सकते हैं


यूरोप का एक देश है नार्वे ....


वहां कभी जाईयेगा तो यह सीन आम तौर पर पाईयेगा..
एक रेस्तरां है ..
उसके कैश काउंटर पर एक महिला आती है और कहती है -"5 Coffee, 1 Suspension"..फिर वह पांच कॉफी के पैसे देती है और चार कप कॉफी ले जाती है ...
थोड़ी देर बाद ....
एक और आदमी आता है ,कहता है- "4 Lnch , 2 Suspension" ! वह चार Lunch का भुगतान करता है
और दो Lunch packets ले जाता है...
फिर एक और आता है ...आर्डर देता है - "10 Coffee , 6 Suspension" !! वह दस के लिए भुगतान करता है,
चार कॉफी ले जाता है...

थोड़ी देर बाद....
एक बूढ़ा आदमी जर्जर कपड़ों में काउंटर पर आकर पूछता है-
  "Any Suspended Coffee ??"

काउंटर-गर्ल मौजूद कहती है- "Yes !!"और एक कप गर्म कॉफी उसको दे देती है ...
कुछ देर बाद वैसे ही एक और दाढ़ी वाला आदमी अंदर आता है,पूछता है-
 "Any Suspended Lunch ??" 
तो काउंटर पर मौजूद व्यक्ति गर्म खाने का एक पार्सल और
पानी की एक बोतल उसको दे देता है ...
और यह क्रम ...एक ग्रुप द्वारा अधिक पेमेंट करने का और
दूसरे ग्रुप द्वारा बिना पेमेंट खान-पान ले जाने का दिन भर चलता रहता है ....

यानि ...अपनी "पहचान" न कराते हुए और किसी के चेहरे को "जाने बिना" भी अज्ञात गरीब जरूरतमंद की मदद करना...
यह है नार्वे नागरिकों की परंपरा !!!

...और एक अपना देश है जहाँ 'एक दर्जन' लोग किसी मरीज को 'एक केला' देते हुए बड़ी बेशर्मी से ऐसे फ़ोटो खिंचवाते हैं, जैसे दुनिया के सबसे बड़े दानवीर वही हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ